UPI Ka Full form in Hindi यूपीआई का फुल फॉर्म क्या है

UPI Ka Full Form in Hindi – पहले के समय में ज्यादातर पैसे का लेन देन कैश से ही किया जाता था। और तो और हर किसीको बैंक से जुड़ी बातें पता नहीं होती थी। पर आज का समय बिल्कुल विपरीत है नोटबंदी के बाद से हर इंसान पैसे का लेन देन डिजिटल तरीके से करने लगा है। आज छोटे से छोटे दुकान में भी QR code लगा होता है जिसे स्कैन करके हम पैसा देते है और वह पैसा डायरेक्ट हमारे बैंक अकाउंट से कटता है।

QR code के अलावा UPI भी एक तरीका होता है जिससे हम बैंक अकाउंट से पैसा भेज सकते है और बैंक अकाउंट में पैसा डाल सकते है। अब आप में से बहुत से लोगो को UPI के बारे में पता नहीं होगा।तो इस आर्टिकल में हम आपको UPI ID के बारे में बताएंगे और इससे जुड़ी जानकारियों को आपके साथ सांझा करेंगे।

UPI Ka Full Form in Hindi:-

UPI का फुल फॉर्म Unified Payments Interface होता है।जिसका अर्थ हिंदी मेे एकीकृत भुगतान इंटरफेस होता है। शब्दों के पूर्ण रूप में ही उसका अर्थ होता है, उसी प्रकार इसके शब्दों में भी उसका अर्थ छुपा है। आप इसके नाम से ही समझ सकते है कि इसका संबंध बैंक ट्रांजैक्शन से जुड़ा हुआ है। अब चलिए जानते है कि UPI क्या होता है।

UPI क्या होता है? UPI ka full form kya hai

UPI एक प्रकार का साधन है जिसकी मदद से हम बैंक अकाउंट से जुड़कर ऑनलाइन लोगो के साथ लेन देन कर सकते है। यह बहुत ही आसान सिस्टम है केवल UPI ID याद रखकर आप कहीं भी पैसे भेज सकते है और इसकी मदद से अपने अकाउंट में भी पैसे का भुगतान कर सकते है। UPI ID आपके बैंक अकाउंट द्वारा बनाई जाती है जो की डिजिटल लेन देन में बहुत काम आती है।केवल मोबाइल की मदद से आप सुरक्षित पैसे को भेज सकते है।

Also Read: We are committed to your privacy WhatsApp meaning in Hindi

UPI की शुरुवात

UPI की शुरुवात सन् 2015 में नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया यानी कि भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा किया गया। इसका उद्देश्य केवल पेमेंट मैथड को आसान और सुरक्षित बनाना है। पहले अगर आपको कोई पैसे भेजने वाला होता था तो उस अपना बैंक अकाउंट नंबर और IFSC code बताना पड़ता था जिसे हर कोई याद नहीं रखता।पर आज आप केवल अपना UPI नंबर याद रख कर इस काम को भी आसान बना सकते है। केवल एक UPI से आप दो बैंक अकाउंट को जोड़कर लाखो रुपए का लेन देन कर सकते है।

UPI ID कैसे बनाएं:-

यूपीआई आईडी बनाना बहुत ही ज्यादा आसान है आप अपने मोबाइल से यूपीआई आईडी बना सकते हैं।हालांकि बैंक द्वारा भी यूपीआई आईडी बनाया जाता है पर उसका प्रोसेस थोड़ा लंबा होता है आप चाहे तो घर बैठे मोबाइल फोन से यूपीआई आईडी बनाकर इसका उपयोग कर सकते हैं। नीचे दिए गए कुछ स्टाफ में हमने यूपीआई आईडी बनाना बताया है, इसे फॉलो करके आप भी अपना यूपीआई आईडी बना सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको अपने मोबाइल फोन में UPI bhim app और phone pe , Google pay जैसे कोई एक एप्लीकेशन को डाउनलोड करना पड़ेगा।
  • उसके बाद आपको उस ऐप में अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर करना पड़ेगा।
  • मोबाइल नंबर रजिस्टर करने के बाद आपको अपना बैंक अकाउंट लिंक करना पड़ेगा।
  • बैंक अकाउंट लिंक करने के लिए आपका बैंक अकाउंट नंबर और क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड की भी जरूरत पड़ सकती है।
  • सभी जानकारी देने के बाद आपका बैंक अकाउंट लिंक हो जाएगा।
  • फिर आपको अपना UPI pin बनाना होगा जिससे आपका ट्रांजैक्शन सुरक्षित रहे।
  • उसके बाद आईडी में जाकर अपना यूपीआई आईडी बना सकते हैं और उसे एक्टिवेट कर सकते हैं। और आप चाहे तो बाद में उसे बदल भी सकते हैं।

UPI ID का इस्तेमाल:-

UPI का इस्तेमाल डिजिटल पेमेंट के लिए ही किया जाता है। आप मोबाइल कि मदद से अपना UPI ID बना सकते है और उसका इस्तेमाल कहीं भी कर सकते है। जब आप अपना UPI आईडी बनाएंगे उसके बाद आपका वह अकाउंट एड्रेस बन जाएगा इसकी मदद से अगर किसी को आपको पैसे भेजने हैं होंगे तो आप उन्हें केवल अपना यूपीआई आईडी बता सकते हैं।

इससे वह आपके अकाउंट से अपना अकाउंट लिंक करके आपको डायरेक्ट पेमेंट कर देंगे। आजकल छोटे-छोटे ग्रॉसरी शॉप में भी यूपीआई पेमेंट एक्सेप्ट किया जाता है इसलिए इसका इस्तेमाल धीरे-धीरे काफी ज्यादा बढ़ता जा रहा है। लोग अपने साथ हर वक्त कैश नहीं रखते तो यूपीआई उस समय व्यक्ति का काफी मदद करता है।

Also Read: AM Full Form In Hindi (Time)

UPI ID की विशेषता:-

  • हर प्रकार का भुगतान यूपीआई आईडी से किया जा सकता है।
  • बैंक से पैसे ट्रांसफर करने के लिए आप को बैंक जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती और कभी भी दिन हो या रात यूपीआई आईडी से मिनटों में पैसा भेज सकते हैं।
  • एक बैंक अकाउंट से किसी भी बैंक अकाउंट में पैसे आसानी से भेज सकते हैं।
  • यूपीआई आईडी से पूरी सुरक्षा के साथ आपका पैसा पहुंच जाता है।
  • अगर आपको मोबाइल चलाना नहीं आता फिर भी आप आसानी से UPI पेमेंट को समझ सकते हैं और आप भी यूपीआई पेमेंट कर सकते हैं।
  • एक यूपीआई आईडी ही आपका अकाउंट एड्रेस बन सकता है बाकी अकाउंट नंबर और आईएफएससी कोड याद करने की आवश्यकता नहीं पड़ती।

निष्कर्ष :-

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा यूपीआई आईडी भुगतान सेवाएं निकालने के बाद आज यह व्यक्ति की काफी मदद कर रही है। सिर्फ एक मोबाइल फोन से ही आप अपना पेमेंट दूसरे अकाउंट में सुरक्षित तरीके से कर पाते हैं। यह पूरा मेथड डिजिटल पेमेंट पर आधारित किया गया पर यूपीआई पेमेंट के लिए नेट कनेक्शन फास्ट होना बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि अगर आप तो यूपीआई पेमेंट कर रहे हैं और अगर आपका नेटवर्क कनेक्शन फेल हो जाए तो आपका ट्रांजैक्शन रुक सकता है ,जिसे काफी परेशानी झेलनी पड़ सकती है।

Leave a Comment